जहां भावनाओं और प्यार का मीठा संगीत बहता है

har-kisi-ki-hoti-hai-kahani-savi-sharma
सवि शर्मा के इस उपन्यास की 100 दिन में एक लाख से अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं.

सवि शर्मा की किताब के चर्चे बहुत सुने थे। जब भी मैं अमेजन या फ्लिपकार्ट पर किताबों की खोज कर रहा होता तो सवि शर्मा का उपन्यास पहले पन्ने पर नजर आता।

दो चेहरे जो आवरण पर बने हैं, उन्हें देखने के बाद वे काफी देर तक दिमाग में घूमते रहते।

एक लड़की और एक लड़का, बीच में लाल स्याही से किताब का शीर्षक और नीचे की ओर काली स्याही से ‘सवि शर्मा’ लिखा है।

‘हर किसी की होती है... कहानी’ सवि की अंग्रेजी में लिखी पुस्तक एवरीवन हेज़ ए स्टोरी का हिंदी अनुवाद है। इसका अनुवाद उर्मिला गुप्ता ने किया है तथा इसे वेस्टलैंड/यात्रा ने प्रकाशित किया है।

किताब में लिखा है: ‘हर किसी के पास सुनाने के लिए एक कहानी है। हर कोई कहानीकार है। कुछ किताबों में लिख जाते हैं, और कुछ अपनी कहानी अपने दिलों में ही दबा देते हैं।'

अनुभवहीन लेखक मीरा एक ऐसी कहानी की तलाश में है जो लाखों दिलों को छू जाये।

सिटी बैंक के असिस्टेंट ब्रांच मैनेजर विवान का सपना दुनिया घूमने का है।

कैफे मैनेजर कबीर अपना कैफे खोलने की ख्वाहिश रखता है।

कैफे में आने वाली उदास कस्टमर निशा के अपने कुछ राज हैं।

हर किसी की अपनी कहानी है।

लेकिन क्या हुआ जब ये चारों जिंदगियां आपस में गुथ गयीं?

कैफे कबीर में अपनी कुर्सी पकड़कर बैठ जाइए और इनकी दोस्ती और प्यार की कहानी को खिलते देखिये, उसमें कुछ अपने पन्ने भी जोड़ दीजिए, और प्यार भरे कैफे से दुनिया के दूसरे छोर तक हमारा साथ दीजिए।


किताब को पढ़कर अच्छा अहसास होता है। यकीन मानिये आप बोर बिल्कुल नहीं होंगे।

अनुवाद भी इसी तरह किया गया जिससे कहानी के बहते हुए मीठे संगीत की लय में कमी न आये।

कहानी एक हवा के झोंके की तरह आपके करीब से गुज़रती है, और आप उसकी रौ में बहते हुए चले जाते हैं। इसे युवाओं का संगीत कहते हैं।

प्रेम की जो छींटें यहां सवि ने बिखराने की कोशिश की है, उसमें वे काफी हद तक कामयाब भी नजर आती हैं। उनके चेहरे के भावों को स्मरण कर यदि किताब को पढ़ा जाये तो किताब बहुत खूबसूरत बन पड़ती है।

ऐसा अकसर होता है कि किताब लिखने वाला पहले जान लिया जाये और बाद में उसकी कृति को पढ़ें तो चीज़ें सामान्य से कहीं आगे गुज़रती हैं।

जिंदगी एक संघर्ष है, और वह उतार-चढ़ाव का मेला है, मगर सवि ने उसमें अपनी तरह का एक तड़का लगाया है जो यह कहता है कि जिंदगी में भावनायें और उनमें खेलता प्यार बहुत मायने रखता है।

दो दिलों का मेल एक नयी कहानी गढ़ता है।

सवि शर्मा की यह कहानी उनकी पहली कहानी है जिनकी 100 दिन में एक लाख से अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं और यह संख्या अभी तेजी से बढ़ रही है।

सवि को एक बार पढ़िये तो सही!


किताब ब्लॉग  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

No comments