‘द ग्रेट इंडियन डाइट’ : हमारी पर्सनल ट्रेनर जो सलाह देते समय बोर नहीं करती

पढ़ने के बाद यह साफ़ कह सकते हैं कि यह किताब आपकी दोस्त है जो हर कदम आपके साथ खड़ी है.

हम अपने खाने-पीने पर कितना ध्यान देते हैं। यह शायद हमें खुद पता भी नहीं है कि क्या और कब और क्यों खाना चाहिए। अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी कुंद्रा की चर्चित किताब ‘द ग्रेट इंडियन डाइट’ भोजन से जुड़े हमारे बहुत से सवालों के जवाब देती है। यह बिल्कुल नहीं है कि इस पुस्तक में महिलाओं के बारे में लिखा गया है। बल्कि यह किताब हर किसी के बारे में है। यह हमारे भोजन के तौर-तरीकों पर कोई शोध वगैरह नहीं है, मगर सरल भाषा में समझाने की कोशिश है कि अच्छे स्वास्थ के लिए भोजन का मतलब क्या है और डाइट बदलने से किस तरह हमारी जिंदगी खुशहाल बन सकती है।

‘द ग्रेट इंडियन डाइट’ शिल्पा शेट्टी कुंद्रा ने जानेमाने समग्र पोषण विशेषज्ञ ल्यूक कुटिन्हो के साथ मिलकर लिखी है। किताब की भूमिका अनिल कपूर ने लिखी है।

the_great_indian_diet_hindi_book

पुस्तक पढ़ने के बाद आप स्वयं महसूस करेंगे कि अभी तक आप भोजन के बारे में कई मिथक पाले हुए थे, वे टूट गए हैं। भारतीय भोजन दुनिया का सबसे श्रेष्ठ भोजन क्यों है, यह भी आपको इस पुस्तक में पता चलेगा। कैंसर पर किताब में काफी चर्चा की गयी है।

किताब हमें स्वस्थ जीने के आसान तरीके तो बताती ही है, साथ में सेहत से जुड़े कई अनसुलझे सवाल भी जिन्हें जानना बेहद जरुरी है। वैसे किताब में अधिक जोर वजन घटाने पर दिया गया है, लेकिन उसके लिए कुछ अहम बातों का पालन करना भी जरुरी है।

किताब में शिल्पा कहती हैं :
‘पिछले 22 साल में मेरा वजन निरंतर 58 से 60 किलोग्राम के बीच टिका हुआ है। गर्भावस्था के दौरान मेरा वजन 32 किलो तक बढ़ गया। मेरे बेटे वियान राज का जन्म होने के बाद मैं अपने शरीर को फिर से उसी रूप में पाना चाहती थी। अपनी डिलीवरी के सात माह बाद मैंने तय किया कि मुझे अपनी सेहत को सही पटरी पर लाना ही होगा। मैंने चार माह में 28 किलो वजन घटाया और मेरा विश्वास करें, यह कोई आसान काम नहीं था। यह मुश्किल था, पर असंभव नहीं था और यह हमेशा ही ऐसा रहेगा। जिस दिन आप अपने मन में किसी लक्ष्य को धारण कर लेंगे तो आप पाएंगे कि एक बदलाव आने लगा है। मेरा मानना है कि वजन घटाने की कवायद में 70 प्रतिशत डाइट, 30 प्रतिशत व्यायाम, अच्छी व गहरी नींद और एक सकारात्मक मानसिकता का हाथ होता है।‘

शिल्पा शेट्टी ने दालों की बात की है, फलों-सब्जियों की बात की है और साथ ही आंखें खोलने वाले ऐसे तथ्य रखें हैं जिनका पता बहुत लोगों को उनकी यह पुस्तक पढ़कर पता चलेगा। भारतीय भोजन कितना सेहतमंद है इस पर खुलकर चर्चा की गयी है।

shilpa_shetty_book
शिल्पा कहती हैं : हर भारतीय परिवार की रसोई उसकी सेहत को वश में रखती है। गंभीर रोगों के इलाज भी हर भारतीय के पास हैं। आपको केवल अपने भोजन को अच्छी तरह समझना होगा। सेहत से जुड़ी आम समस्याओं जैसे-सर्दी, खाँसी व जुकाम, पेट में अफारा, मासिक धर्म के समय होनेवाली ऐंठन और सिर दर्द वगैरह के लिए हमें डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होती। भारतीय मसालों में शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो ऐसी शिकायतों से राहत दिला सकते हैं।‘

किताब हमें अच्छे एवं स्वस्थ भोजन के लिए प्रेरित करती है। एक सन्देश भी देती है कि सेहत की चाबी हमारे हाथ में है। अपने जीवन को जैसे चाहें मोड़ सकते हैं।

‘द ग्रेट इंडियन डाइट’ पढ़ने के बाद यह साफ़ तौर पर कहा जा सकता है कि यह किताब आपकी दोस्त है जो हर कदम आपके साथ खड़ी है क्योंकि यह आपकी ‘पर्सनल ट्रेनर’ है जो स्वास्थ्य से जुड़ी सलाह देते समय बोर नहीं करती।

shilpa_shetty_luke_book_review
‘द ग्रेट इंडियन डाइट’
लेखक : शिल्पा शेट्टी कुंद्रा और ल्यूक कुटिन्हो
अनुवाद : रचना भोला 'यामिनी'
प्रकाशक : प्रभात प्रकाशन
पृष्ठ : 208
पुस्तक को यहां क्लिक कर खरीदें>>


किताब ब्लॉग  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या हमेंगूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

1 comment:

  1. What you're saying is completely true. I know that everybody must say the same thing, but I just think that you put it in a way that everyone can understand. I'm sure you'll reach so many people with what you've got to say.

    ReplyDelete