जीएसटी की ताज़ा और संपूर्ण जानकारी के लिए

पुस्तक में आसानी से समझने लायक हिन्दी में GST के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करायी गयी है.
GST-hindi-hand-book-review

सरकार द्वारा लागू की गयी जीएसटी यानि गुड्स एंड सर्विस टैक्स (माल एवं सेवा कर) योजना के बारे में हिन्दी में विस्तृत जानकारी हासिल करनी हो तो सुजय प्रकाश उपाध्याय और शचि साक्षी उपाध्याय द्वारा लिखित पुस्तक ‘GST : क्या, किसके लिए, कैसे’ पढ़ें। यह हैंड-बुक व्यापारियों, व्यवसाइयों, उपभोक्ताओं, बैंकिंग इंश्योरेंस सेवा, रियल एस्टेट, बौद्धिक संपदा अधिकार तथा इंडस्ट्रीज़ से जुड़े लोगों, पत्रकारों, लेखपालों, वकीलों और कर विभाग के पदाधिकारियों के लिए बहुत ही लाभकारी है।

पुस्तक में आसानी से समझने लायक हिन्दी में जीएसटी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करायी गयी है। पुस्तक में जीएसटी रजिस्ट्रशन कराने से लेकर रिर्टन संबंधी समस्त प्रावधान, भुगतान एवं वसूली, मांग और रिकवरी, लेखा संधारण एवं टैक्स इनवॉइस, क्रेडिट नोट, डेबिट नोट, टैक्स इनवॉइस का स्वरुप, कर आधार, आपूर्ति और देयता, कर दर, आपूर्ति का समय एवं उसका मूल्यांकन, इनपुट टैक्स क्रेडिट, संवीक्षा एवं कर निर्धारण, आॅडिट, निरीक्षण, सर्च, जब्ती एवं गिरफ्तारी, अपराध एवं अर्थ दण्ड, अपील, रिवीज़न एवं न्यायालय, मुनाफाखोरी-रोधी नियम आदि के बारे में बहुत ही सटीक जानकारी दी गयी है।

gst-hindi-book-rajkamal-prakashan
‘यह पुस्तक हिन्दी में इस तरह संयोजित एवं संगठित है कि कठिन विषय होने के बावजूद पाठक की अभिरुचि एवं रोचकता पुस्तक में निरंतर बनी रहती है. इस पुस्तक की सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें सामग्रियों का कट-पेस्ट नहीं है; बल्कि सुसंगत एवं सटीक स्पष्टीकरण के साथ बात समझाने के लिए यथास्थान चित्र एवं उदाहरण भी दिये गये हैं. यह पुस्तक बगैर ऊब शुरु से अंत तक पढ़ी जा सकती है.’

छोटा-बड़ा सभी तरह का कारोबार करने वालों के लिए यह पुस्तक एक मार्गदर्शिका का काम करेगी। कई लोग जो जीएसटी के बारे में जानकारी न होने अथवा भ्रमात्मक जानकारी के कारण मानसिक परेशानी में हैं तथा व्यापार को लेकर चिंतित हैं, उनकी समस्याओं के निराकरण में यह पुस्तक अहम रोल अदा करेगी। वे इसे पढ़कर जीएसटी की पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

gst-hindi-hand-book

इस तरह की पुस्तकें प्रायः अंग्रेजी में लिखी जाती रही हैं। बाद में उनका हिन्दी अनुवाद छापा जाता है जिसमें कई जगह शब्द चयन में गल्तियों के कारण भाषा क्लिष्ट और अनर्थकारी भी हो जाती है। यहां ऐसा नहीं है। प्रकाशक और लेखकगण का यह प्रयास हिन्दी पाठकों के लिए एक उपहार है।

सुजय प्रकाश उपाध्याय : झारखंड में जन्मे सुजय 25 वर्षों से बिहार वित्त सेवा में कार्यरत हैं. बिहार में वाणिज्य-कर संयुक्त आयुक्त (पटना) के पद पर हैं. जीएसटी, बिहार टीम के सक्रिय सदस्य एवं उससे जुड़ी कई प्रशिक्षण कार्यक्रमों एवं सेमिनारों का संचालन भी कर चुके हैं. बिहार प्रशासकीय प्रशिक्षण संस्थान में लगातार प्रशिक्षण देने का अनुभव है.
शचि साक्षी उपाध्याय : बिहार में जन्मी शचि ने पुस्तक का हिन्दी में अनुवाद किया है. एलएलबी की है और वे पीडब्ल्यूसी गुरुग्राम में एसोसिएट (अप्रत्यक्ष कर) के रुप में कार्यरत हैं.
-----------------------------------------
'GST : क्या, किसके लिए, कैसे’
लेखक : सुजय प्रकाश उपाध्याय/शचि साक्षी उपाध्याय
प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन
पृष्ठ : 180
-----------------------------------------


किताब ब्लॉग  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या हमेंगूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

No comments