Unbroken : हिम्मत और विश्वास की सच्ची कहानी

unbroken-book
ज़िन्दगी खूबसूरत है, हर पल कीमती है, और निराशा का जीवन में कोई स्थान नहीं है.
22 मार्च, 2016 की वो घटना निधि कभी नहीं भूल सकतीं। साथ ही वे सभी लोग भी जो उस आत्मघाती हमले में अपनों को खो चुके, और जो वहाँ मौजूद थे। वह धमाका इतना शक्तिशाली था कि निधि की दुनिया हमेशा के लिए बदल गई। उनके शरीर में जगह-जगह धातु और काँच के टुकड़े धँस गये थे। खून से लथपथ, बुरी तरह घायल उनकी तस्वीर वायरल हुई थी। निधि 23 दिन कोमा में रहीं।

आत्मघाती हमला ब्रुसेल्स एयरपोर्ट पर हुआ था जिसमें 30 से अधिक लोगों की जान गई तथा तीन सौ के करीब घायल हुए थे।

जेट एयरवेज़ की उस समय केबिन क्रू मैनेजर रहीं निधि चाफेकर ने हमले के बाद अपनी ज़िन्दगी को कैसे पाया, उन्हें किस दौर से गुजरना पड़ा और क्या-क्या संघर्ष रहा, इसे उनकी हालिया प्रकाशित पुस्तक 'Unbroken : The Brussels Terror Attack Survivor' में समझा जा सकता है। पुस्तक का प्रकाशन मंजुल पब्लिशिंग हाउस के इम्प्रिंट 'Amaryllis' ने किया है।
unbroken-book-nidhi-chaphekar

निधि का शरीर जगह-जगह से जल चुका था। चेहरा झुलस गया था। भारी सदमे और कई सर्जरी के बाद उनकी ज़िन्दगी सामान्य हुई। हालांकि ऐसे जीवन को सामान्य होना नहीं कहा जा सकता, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। वह आज दूसरों के लिए मिसाल हैं।

brussels-attack-book-memoir

यह पुस्तक हमें हर मौके पर सकारात्मक रहने की प्रेरणा देती है। ज़िन्दगी खूबसूरत है, हर पल कीमती है, और निराशा का जीवन में कोई स्थान नहीं है।

एक जगह निधि लिखती हैं -'मैं अब एक नये सफ़र पर हूँ। मैं अपने जीवन के नए उद्देश्य के साथ हूँ। मैंने हमेशा सोचा है और अब दृढ़ता से विश्वास करती हूँ कि आपके साथ जो होता है वह आपका भाग्य है, लेकिन आप इससे कैसे निपटते हैं वह आपका भविष्य है।'

यह पुस्तक हिम्मत और विश्वास की सच्ची कहानी है जिसे जरुर पढ़ा जाना चाहिए।

nidhi-chaphekar-book

Unbroken : The Brussels Terror Attack Survivor
लेखिका : निधि चाफेकर
प्रकाशक : मंजुल प्रकाशन (Amaryllis)
पृष्ठ : 354

Book Link -
Paperback : https://amzn.to/3cXrelv
Kindle : https://amzn.to/2UnS2UO

No comments